kan ka mail saaf karne ka tarika hindi

कानों में जमी मैल को दूर करने का आसान घरेलू उपाय

दोस्तों अक्सर हम लोग महसूस करते हैं जब हमारे कानों में खुजली होती तो इससे हमें बचैनी हो जाती है। जिसकी वजह से हम अपने कान में कभी पेन या फिर माचिस की तीली डाल देते हैं ताकि हमें कानों की खुजली से आराम मिलें। लेकिन दोस्तों ये बहुत ही गलत तरीका है। इससे आपके कानों को नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए हम आपको इस लेख में कानों की सफाई करने का बेहतरीन तरीका बता रहे हैं जो आपके कानों की सेहत के लिए भी फायदेमंद होगा।

कान में जमी मैल को साफ करने का तरीका -home remedies to clean and care for your ears in Hindi

किन चीजों की आपको जरूरत होगी वो भी जान लें।

सबसे पहले आपको इसमें शुद्ध सरसों के तेल और दूसरा एयर बड यानि इयर क्लीनर की जरूरत होगी। यह आपको किसी भी दुकान में मिल जाएगी। इस बात का आप जरूर ध्यान दें की सरसों का तेल शुद्ध होना चाहिए।

कान साफ करने की विधि

जिस कान में आपको खुजली हो रही हो तो आप सबसे पहले अपने कानों में  केवल दो बूंद सरसों की तेल की डालें। और फिर दस से पंद्रह मिनट के लिए इसे एैसे कान में रहने दें। इस तरह से सरसों का तेल आपके कानों के अंदर जा चुका होगा। और वह कान में जमी हुई मैल की परत को कमजोर कर चुका होगा।

इसके बाद आप कानों का साफ करने के लिए एयर बड यानि की ईयर क्लीनर का लें। और बहुत ही आराम से आप अपने कान में इसे डालें और हल्के हाथों से इसे घुमाएं। और उपर नीचे करें। जिससे ये मैल इस ईयर बड पर लग जाएगा। इस बात का ख्याल रखें की आप इयर बड को कान के अंदर ज्यादा ना डालें।

इस तरह से अब आप देखेगें की आपके कानों का सारा ​मैल इस ईयर बड पर पूरी तरह से चिपक चुका होगा। और सारी गंदगी आसानी से बाहर आ जाएगी।

यदि आप इस तरह से अपने कानों की नियमित सफाई करते हैं तो आपके कान इससे स्वस्थ रहेगें। और कानों को कोई रोग भी नहीं लगेगा।

अगर आपको ये जानकारी पंसद आए तो जरूर इसे अपने परिवार के अन्य लोगों को भी शेयर कर दें।



Loading...
डिसक्लेमर : AyurvedicSehat.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी AyurvedicSehat.com की नहीं है। AyurvedicSehat.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।

Leave a Reply