Thyroid ko khatam karne ke gharelu tarike

अब जड़ से खत्म होगी थायराइड की समस्या..इन घरेलू तरीकों से!!

बीमारियां कभी भी किसी को लग सकती हैं। और आजकल तो गंभीर रोग तो कम उम्र के लोगों को भी हो रहे हैं। थायराइड की समस्या भी एैसी ही एक गंभीर बीमारी है। जिसका समय रहते उपचार ना होने से इंसान को कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। आपको बता दें आयुर्वेद में कई एैसे उपाय हैं जिनके इस्तेमाल करने से थायराइड की बीमारी का उपचार हो सकता है।

थायराइड की समस्या का आयुवेर्दिक उपचार- Home remedies for Thyroid problem in Hindi

milk doodh ke chamatkari fayde

दूध व दही को जरूर खाएं

भरपूर मात्रा में विटामिन्स और मिनरल्स के अलावा कैल्शियम की भरपूर मात्रा होती है दूध और दही में। यदि आप नियमित इनका सेवन करते हो तो इससे आपको थायराइड की समस्या से निजात मिल सकता है। इसलिए डाय में दही और दूध को जरूर शामिल करें।

 mulethi benefits in Hindi 

करें मुलेठी का प्रयोग – mulethi benefits in Hindi

आयुर्वेद में आपको मुलेठी के फायदों के बारे में काफी जानकारी मिलेगी। जी हां, मुलेठी कई बीमारियों से हमारे शरीर को बचाने का काम करती है। थायराइड ग्रंथी में संतुलन को पैदा करती है मुलेठी।मुलेठी शरीर को ताकत और उर्जा देना का काम करती है। और इससे शरीर की थकान दूर हो जाती है। थायराइड की वजह से इंसान को बहुत जल्दी से थकान लगती है।

अदरक के दस फायदे जानकर हैरान हो जाएंगे

करें अदरक का सेवन थायराइड की समस्या में

पुराने समय से अदरक हमें बीमारियों से बचाता आया है। जिसके सेवन से हमारी सेहत दुरूस्त रहती है। यदि आप अदरक का सेवन करते हो तो इससे आपको थायराइड की बीमारी से आसानी से निजात मिल सकता है। क्योंकि अदरक में मौजूद एंटी—इंफलेमेटरी गुण इस समस्या को बढ़ने से रोकते हैं। यानि अदरक फायदेमंद है थायराइड की समस्या में।

jwar ghehu

ज्वार और गेहूं का सेवन

अगर आपको थायराइड की समस्या अधिक हो यानि की थायराइड ग्रंथी बढ़ी हुई हो तो आप अपनी डायट में ज्वार और गेहूं का सेवन करें। इसमें मौजूद प्राकृतिक तत्व आपको इस बीमारी से निजात दिलवा सकते हैं। यह एक प्राकृतिक सरल उपचार भी है। यही नहीं ज्वार और गेंहू आपको कई अन्य बीमारियों से भी बचाते हैं जैसे हाई ब्लड प्रेशर की समस्या, खूनी की कमी और साइनस आदि।

sabut anaj

खाएं साबुत अनाज

अगर आप साबुत अनाज का सेवन करते हो तो यह आपको जल्दी से थायराइड के रोग से राहत दिलवा सकता है। जी हां अगर आप अपने खाने में साबुत अनाज, जौ और गेंहू आदि का सेवन करते हो तो इससे आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। साथ ही यह बढ़े हुए थायराइड को भी रोक देते हैं। इन साबुत अनाजों में प्रोटीन, फाइबर और विटामिन्स मौजूद होते हैं।

और भी पढ़ें

थायराइड में परहेज, भूलकर भी था ना खाएं ये आहार!!

थायराइड में वजन कम करने के उपाय

आई फ्लू के लक्षण और उपचार

कढ़ी पत्ते के गुण और फायदे-बीमारियों के उपचार में

दूध के साथ छुहारे खाने के फायदे



डिसक्लेमर : AyurvedicSehat.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी AyurvedicSehat.com की नहीं है। AyurvedicSehat.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।

Leave a Reply