gale ki kharash mei masala chai ke fayde

गले की खराश में मसाला चाय पीने के फायदे

अक्सर देखा जाता है सर्दी के मौसम में लोग जुकाम, गले में होने वाली खराश और खांसी से परेशान हो जाते हैं। गले की खराश से बच्चे व बड़े सभी परेशान हो जाते हैं। एैसे में सही समय पर उपचार करना बेहद जरूरी है। नहीं तो ये समस्या गंभीर बन सकती है। गले की खराश से खांसी पैदा होती है। अगर आप कुछ घरेलू नुस्खों का प्रयोग करते हो तो आपको जरूर इस समस्या से निजात मिल जाएगा।

गले की खराश में मसाला चाय पीने के फायदे

अदरक

बहुत गुणों से भरपूर होता है अदरक। यह सेहत के लिए भी लाभदायक होता है। आपको बता दें की इसमें ऐंटिबैक्टीरियल गुण होते हैं। जो गले के संक्रमण व खराश को दूर करते हैं। इसके लिए आप अदरक को कप पानी में डालकर उबालें। और इसमें शहद मिलाकर इसे दिन में दो बार पीएं।

मसाला चाय का सेवन

दोस्तों यदि आप अदरक, काली मिर्च, लौंग और तुलसी को मिलाकर एक कप पानी में डालकर उसे उबालतें हैं और फिर उपर से इसमें चाय की पत्ती डालकर चाय बनाकर पीते हैं तो इससे आपके गले को आराम मिलेगा।

भाप लेना चाहिए

दोस्तों भाप हमारे गले की खराश को दूर करने में महत्वपूर्ण काम करती है। साथ ही यह गले के इंफेक्शन को भी दूर करती है। आप एक बड़ी बाल्टी में पानी को गुनगुना करें। उसमें थोड़ा विक्स डालें और फिर तौलिए से मुंह ढ़ककर भाप लें।

लहसुन

खराश में लहसुन बहुत लाभदायक होता है। लहसुन का सेवन करने से संक्रमण पैदा करने वाले जीवाणुओं को खत्म कर देता है। साथ यह हमारे गले की सूजन और दर्द को भी खत्म करता है। आप लहसुन की कली को धीरे—धीरे चूसते रहें। आपको बड़ा फायदा मिलेगा।

करें नमक का गरारा

गले के लिए नमक बहुत लाभकारी होता है। यह हमारे गले की सूजन और कौशिकाओं की सूजन को कम करने का काम करता है। साथ ही दर्द से भी निजात मिलता है। आप गुनगुने पानी में एक चम्मच नमक को मिलाकर इससे गरारे करें। एैसे आप दिन में तीन बार करें। आपको जरूर लाभ मिलेगा।

और भी पढ़ें —

दांतों की झनझनाहट दूर करने के घरेलू नुस्खे!!

लीवर को स्वस्थ रखेंगे ये दस आयुर्वेदिक उपाय !!

सांस लेने में तकलीफ से जानें बीमारियों के लक्षण!!

संतरा खाने के नुकसान नहीं जानते होंगे आप !!!



डिसक्लेमर : AyurvedicSehat.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी AyurvedicSehat.com की नहीं है। AyurvedicSehat.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।

Leave a Reply