khali pet lahsun ki chai peene ke fayde

खाली पेट लहसुन की चाय पीने के फायदे

आपने चाय तो बहुत पी होगी। ग्रीन टी, काली चाय, दूध वाली चाय आदि। लेकिन क्या आपको पता है लहसुन की चाय भी होती है। जी हां, ये चाय आपकी सेहत के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होती है। लहसुन से बनी चाय का प्रयोग पुराने समय से ग्रीस में होता आया है। ये चाय आपके स्वास्थ्य को मजबूती देने का काम करती है। यही नहीं शरीर की कमजोरी को उर्जा में बदलने के अलावा ये चाय प्राकृतिक रूप से कई सारे गुणों जैसे एंटी आॅक्सीडेंट और एंटी बायोटिक से भरपूर होती है।

इस चाय को लेकर कई हेल्थ रिसर्च भी हुए हैं। जिससे ये साबिह हुआ है की इंसान यदि सुबह के समय खाली पेट इस चाय को पीता है तो वह कई बीमारियों से बच सकता है। आइये जानते हैं लहसुन की चाय को बनाने के तरीके और इसके सेवन से मिलने वाले फायदों के बारे में।

बहुत सारे लाभ आप प्राप्त कर सकते हो सुबह के समय लहसुन की चाय पीने से जैसे ये चाय आपके वजन को घटा सकती है, खून की गंदगी को साफ कर सकती है, हृदय के लिए लाभदायक है, सर्दी जुकाम में फायदेमंद, डायबिटीज से निजात व पाचन संबंधी समस्याओं का उपचार आदि।

कैसे बनाएं लहसुन की चाय – How to make garlic tea at Home in Hindi

लहसुन की चाय बनाने के लिए सामग्री :

  • एक चुटकी अदरक कसा हुआ
  • एक कली लहसुन की
  • एक चम्मच नींबू का रस।
  • पानी एक गिलास।
  • एक चम्मच शहद

अब जानते हैं लहसुन की चाय को तैयार कैसे किया जाता है – lahsun ki chai banane ka tarika

सबसे पहले एक पैन में पानी को रखें और उसे उबलने दें। इसके बाद आप इस उबलते हुए पानी में कसा हुआ अदरक और लहसुन की एक कली को इसमें डाल दें। और पंद्रह मिनट के बाद जब यह पक जाए तब आप आंच को बंद कर लें और इसे दस मिनट के लिए एैसे ही छोड़ दें। अब आप इसे छान कर एक कप में रखें और इसमें उपर से शहद व नींबू का रस भी मिला लीजिए। इस तरह से आपकी ये चाय तैयार हो जाएगी। अब आप इसे पी सकते हैं।

खाली पेट लहसुन की चाय पीने के फायदे – benefits of Garlic tea in Hindi

home remedy for cough with phlegm in hindi

आराम मिलता है सर्दी—जुकाम में

दोस्तों अगर आपको सर्दी व जुकाम की समस्या अक्सर रहती हो तो आप लहसुन की चाय का सेवन करना शुरू करें। आपको इस समस्या से जरूर छुटकारा मिल जाएगा। साथ ही यह खांसी की समस्या का भी कारगर उपचार करती है।

khoon ki kami door karti hai makai

खून की गंदगी का साफ करना

आप सुबह इस चाय का सेवन करें तो इससे आपके रक्त की गंदगी दूर होने लगेगी। साथ ही हमारे शरीर में मौजूद विषैले पदार्थ पेशाब के रास्ते निकल जाते हैं और आप स्वस्थ होने लगते हो।

men-face

लाए त्वचा में निखार

चाहते हो त्वचा में निखार आए और वह लंबे समय तक बना रहे तो आप जरूर अपनी डाइट में लहुसन का सेवन करें। क्योंकि इसमें कई प्राकर के विटामिन होते हैं।जैसे विटामिन ए, बी1, बी2 और विटामिन सी। और इसकी जाय पीते हो तो चेहरे की गंदगी साफ हो जाती है। और धीरे—धीरे आपकी त्वचा निखरती चली जाती है।

वजन घटाने के सात घरेलू उपाय

घटाए वजन को

जो लोग वजन को कम करने के लिए घंटों जिम में कसरत कर रहे होते हैं उनके लिए लहुसन टी किसी औषधि से कम नहीं है। वे सुबह खाली पेट इस चाय को पीएं। एैसा वे लगातार एक माह तक करें। फिर देखें कैसे आपका वजन तेजी से घट जाएगा।

दस्त व मरोड़ को दूर करने के घरेलू नुस्खे

ठीक रहता है पाचन

बीमारियों की सबसे बड़ी जड़ है हमारा पेट। पेट अगर ठीक नहीं है तो हम स्वस्थ भी नहीं रह सकते हैं। लहसुन से तैयार चाय को पीने से पाचन क्रिया ठीक रहती है। क्योंकि इसमें मोटाबोलिज्म को बढ़ाने की क्षमता रहती है। और आपकी सेहत सुधरती चली जाती है।

हार्ट अटैक : कारण, लक्षण और उपचार

हार्ट के रोगों में लहसुन की चाय

आजकल दिल की बीमारियां इंसान में तेजी से फैल रही हैं एैसे में यदि आप इस प्राकृतिक चाय का सेवन करें तो आपके शरीर में खून का संचार अच्छा रहता है। और आपको हृदय घात की समस्या कभी नहीं होगी।

बीमारियों से लड़ने में मदद करता है

कई रोगों को जड़ से खत्म करने की क्षमता रखता है लहसुन। अगर आप लहुसन से तैयार की हुई चाय को सुबह पीते हो तो इससे आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है। और आपका शरीर बीमारियों से लड़ने में सक्षम रहता है।

diabetes

मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद

इस चाय को पीने से आपकी डायबी​टीज नियंत्रण में होती है। जिससे आप शुगर की समस्या से बच सकते हो। यही नहीं दोस्तों ये चाय आपके कोलेस्ट्रोल के स्तर को भी कम करने का काम करती है जिससे आपको दिल की बीमारी नहीं होती है।

ये भी पढ़ें —

दवाइयों के साइड-इफैक्ट्स से बचने के उपाय

सांस लेने में तकलीफ से जानें बीमारियों के लक्षण!!

चांदी के बर्तन में छिपे हैं ये फायदे

मधुमेह टाइप 2 के लक्षण और कारण



डिसक्लेमर : AyurvedicSehat.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी AyurvedicSehat.com की नहीं है। AyurvedicSehat.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।

Leave a Reply