sardiyo mein alsi ki chai peene ke fayde

सर्दियों में अलसी की चाय पीने के फायदे

बहुत सारे लोग सर्दियों के मौसम में किसी न किसी तरह की बीमारी से परेशान हो जाते हैं। जिनमें से अधिकतर लोगों को खांसी, सर्दी—जुकाम के अलावा गले की खराश और वायरल इंफेक्शन हो जाता है। वैसे तो ये सभी दिक्कतें आम हैं लेकिन इन बीमारियों से आपका जीवन प्रभावित हो जाता है।
एैसे में आप एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन करने लगते हैं। जो आपको थोड़े समय के लिए इन रोगों से निजात तो दिलवा देती हैं लेकिन इसका असर आपकी सेहत पर गलत भी पड़ सकता है। हम आपको एैसी आयुर्वेदिक चाय के बारे में बता रहे हैं जिनका सेवन करने से आप गले की खराश व सर्दी, जुकाम से निजात पा सकते हो।

सर्दियों में अलसी की चाय पीने के फायदे : Alsi poweder ayurvedic tea for Health in Hindi

अलसी की चाय सर्दी—खराश व खांसी के लिए

जरूरी चीजें

थोड़ी मात्रा में गुड़
दो कप पानी
एक चम्मच अलसी चूर्ण
शहद थोड़ी मात्रा में।

इस तरह से बनाएं इस वैदिक चाय को

आप सबसे पहले धीमी आंच में एक कप पानी में एक चम्मच अलसी के चूर्ण को मिलाकर पकाएं। और जैसे ही पानी आधा रह जाए तब आप उसे ठंडा कर लें और उपर सेउसमें गुड़ और शहद को मिला लें। और इसका सेवन आप सुबह और शाम करें। आपको गले की खराश, सर्दी—खांसी से आराम मिलेगा।

इस चाय के अलावा आप अन्य चाय भी पी सकते हैं।
सर्दी—खांसी के लिए इस चाय को भी पीएं

avoid-tea-in-kidney-stone-in-hindi

लाभदायक है इलायची की चाय

पुराने समय से ही इलायची को हमारी सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता रहा है। सर्दियों में इलायची की चाय किसी रामबाण औषधि से कम नहीं है। यह आपके गले को राहत देती है। साथ ही शरीर में मौजूद कैफीन को भी खत्म करती है। यह चाय पेट के लिए भी अच्छी मानी जाती है।

chai pine ke nukshan in hindi

अदरक वाली चाय

अदरक एक आयुर्वेदक दवा है। और इसका इस्तेमाल करने से हम कई रोगों से बचते हैं। यह हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। अगर बाद की जाए सर्दियों में होने वाली बीमारियों की तो आप एैसे में अदरक की चाय को पीएं। इससे बुखार, पेट की समस्या, कफ, गले का संक्रमण आदि दूर होगा।

green tea peene ka sahi tarika aur samay

ग्रीन टी का लाभ

आपको बता दें की ग्रीन टी वजन कम करने के साथ—साथ आपको सर्दियों में होने वाली बीमारियों से भी बचाती है। क्योंकि इसमें अमीनो एसिड पाया जाता है। साथ ही इसमें थियानिन भी पाया जाता है जो आपकी मांसपेशियों और गले को आराम देता है। यही नहीं ग्रीन टी में ताकतवर यानि शक्तिशाली एंटीआॅक्सीडेंट तत्व और पॉलिफेनॉल्स भी पाया जाता है जो फ्री—रेडिक्लस को खत्म करने से बचाता है और आप किसी भी तरह के संक्रमण से दूर रहते हैं।

इलायची की चाय के फायदे

कैमोमाइल टी

इस चाय में भी काफी पोषक तत्व पाए जाते हैं। जो आपको सर्दी—खांसी जैसी समस्याओं से राहत दिलवाते हैं। कैमोमाइल चाय में एंटीआॅक्सीडेंट होता है जो आपको बुखार, खराश आदि से निजात दिलवाती है।

अधिक पढ़े गए लेख-

महानारायण तेल के आयुवेर्दिक फायदे

चाय पीने के नुकसान आपको नहीं होगें पता

चर्म रोग का सफल घरेलू उपचार

मिश्री खाने के अचूक फायदे



डिसक्लेमर : AyurvedicSehat.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी AyurvedicSehat.com की नहीं है। AyurvedicSehat.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।

Leave a Reply