भिंडी से पाएं डायबिटीज से छुटकारा

अब भिंडी दूर करेगी आपकी डायबिटीज की समस्या

भिंडी का इस्तेमाल तो आप सभी करते हो। कुछ लोगों की तो पहली पसंद भी होती है भिंडी से बनी सब्जी। भिंडी हमारी सेहत के लिए भी बहुत उपयोगी है। यह कई बीमारियों को जड़ से खत्म करने का काम करती है। लेकिन इस लेख में हम आपको भिंडी के एैसे उपयोग के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे करने से आप मधुमेह यानि की डायबिटीज की समस्या से मुक्ति पा सकते हो।

शुगर जिसे मधुमेह या फिर डायबिटीज कहा जाता है यह समस्या भारत में सबसे अधिक हो रही है। और इससे बचने के लिए भी तरह तरह के प्रयोग भी किए जा रहे हैं। लेकिन शायद आपको नहीं पता होगा की भिंडी के प्रयोग से भी आप इस समस्या से
आसानी से निजात पा सकते हो।

diabetes

कैसे करें भिंडी का उपयोग शुगर दूर करने के लिए

आपको केवल दो भिंड़ी लेनी हैं। जो लोग मधुमेह के रोगी हैं वे रात के समय में दो भिंडी लें। और उन्हें काट लें। अब आप इन्हें एक गिलास पानी में भरकर रातभर के लिए छोड़ दें। और सुबह इस पानी को खाली पेट पी लें। इस उपाय को आपको लगभर दो से तीन महीने नियमित करना है। एैसा करने से शुगर का स्तर नियंत्रित हो जाएगी। ये कारगर आयुर्वेदिक उपचार है।

लेकिन इस बात का भी ध्यान आप जरूर रखें की आपको अपनी शुगर की दवाओं को खाना छोड़ना नहीं है। वो भी आप खाते रहें।

किडनी की समस्या में

किडनी से संबंधित कई रोग होते हैं। एैसे में यदि आप इस उपाय को करते हो तो इससे आपकी किडनी के रोग और समस्याएं दूर हो जाएगीं।

आंखों के लिए लाभदायक

दोस्तों ये नुस्खा आपकी आंखों के लिए भी बहुत फायदेमंद है। आपकी आंखों की कमजोरी को दूर करने का काम करता है ये नुस्खा। क्योंकि भिंडी में प्रचुर मात्रा में विटामिन ए की मौजूदगी होती है।

अधिक पठित लेख :

शिलाजीत के फायदे और नुकसान सेहत के लिए

भूलकर ना रखें तांबे के बर्तन में ये चीजें…हो सकता नुकसान

गले की खराश दूर हो जाती है इस चीज के सेवन से

सुबह खाली पेट गुड़ खाने के फायदे

 



डिसक्लेमर : AyurvedicSehat.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी AyurvedicSehat.com की नहीं है। AyurvedicSehat.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।

Leave a Reply