naak behne ke gharelu nuskhe

नाक बहने के कारगर घरेलू उपाय

सर्दी के मौसम आते ही सबसे ज्याद प्रभाव हमारे सिर और चेहरे पर पड़ता है। क्योंकि वे ठंड के सीधे संपर्क में आते हैं। एैसे में सिद का दर्द, और नाक बहने की समस्या अधिक हो जाती है। खासकर की नाक बहने की। एैसे में सांस लेने की भी दिक्कत हो जाती है। यही नहीं इससे इंसान ना तो कुछ खा पाता है और ना ही सही ठंग से सो पाता है। इस तरह से आपकी सेहत पर इससे नाकारात्मक प्रभाव पड़ता है। बहती हुई नाक एक तरह से वायल संक्रमण भी कहलाता है। जिससे एक इंसान से दूसरे इंसान में ये समस्या फैल सकती है। और एैसे में टिशु पपेर या रूमाल आदि आपको अपने साथ रखने पड़ते हैं । ताकि नाक बहने को रोका जा सके। लेकिन हम आपको कुछ एैसे सफल और कारगर नुस्खे बता रहे हें जिससे बहती हुई नाक बंद होगी साथ ही आपका स्वास्थ्य भी अच्छा हो जाएगा।

# नाक बहने के कारगर घरेलू उपाय

सर्दी के मौसम आते ही सबसे ज्याद प्रभाव हमारे सिर और चेहरे पर पड़ता है। क्योंकि वे ठंड के सीधे संपर्क में आते हैं। एैसे में सिद का दर्द, और नाक बहने की समस्या अधिक हो जाती है। खासकर की नाक बहने की। एैसे में सांस लेने की भी दिक्कत हो जाती है। यही नहीं इससे इंसान ना तो कुछ खा पाता है और ना ही सही ठंग से सो पाता है। इस तरह से आपकी सेहत पर इससे नाकारात्मक प्रभाव पड़ता है।
बहती हुई नाक एक तरह से वायल संक्रमण भी कहलाता है। जिससे एक इंसान से दूसरे इंसान में ये समस्या फैल सकती है। और एैसे में टिशु पपेर या रूमाल आदि आपको अपने साथ रखने पड़ते हैं । ताकि नाक बहने को रोका जा सके। लेकिन हम आपको कुछ एैसे सफल और कारगर नुस्खे बता रहे हें जिससे बहती हुई नाक बंद होगी साथ ही आपका स्वास्थ्य भी अच्छा हो जाएगा।

# नाक बहने के कारगर घरेलू उपाय

लहसुन के चमत्कारिक औषधीय फायदे

# करें लहसुन का प्रयोग

आप लहसुन का प्रयोग करके भी नाक बहने की समस्या से बच सकते हो। क्योंकि लहसुन में एंटी बायेाटिक गुण होते है। लहसुन हमारी सेहत के प्रति अधिक संवेदनशील होता है। अगर आपको जुकाम या बंद नाक की समस्या हो जाए या फिर नाक से पानी अधिक बहने लगा हो तो आप लहसुन का सेवन करें। इसके लिए आपको कुछ तरीका अपनाना होगा। एक गिलास पानी को उबालें। और फिर उसेमें लहुसन की कली और हल्दी का पाउडर मिला लें। जब यह अच्छे से पक जाए तब इसे ठंडा करके छान लें और इसका सेवन करें। इससे नाक बहना रूक जाएगी। और नाक खुल जाएगी।

gungune pain peene ke fayde

# नमक का पानी

सबसे सरल उपाय और कारगर नुस्खा है नमक का पानी। नमक के पानी से गरारे करना बहुत लाभदायक होता है। क्योंकि नमक के पानी में लवणीय तत्व होते हैं। इसका इस्तेमाल आप इस तरह से करेंं। सबसे पहले आप एक गिलास पानी लें और फिर उसमें एक चम्मच की मात्रा में नमक मिलाएं। और फिर इसे अच्छे से घोल लें। अब इस पानी से गरारे करें। कम से कम तीस सेंकड तक गरारे करते रहें। इससे गले को राहत मिलेगी। और सर्दी व जुकाम व खराश से भी आपको छुटकारा मिल जाएगा। साथ ही नाक का बहना भी बंद हो जाएगा।

# जीरा व इलायची

दोस्तों हमारे किचन में भी कई सारी एैसी चीजें होती हैं जो हमे कई बीमारियों से बचा सकती है। एैसे में आप यदि इलायची, जीरा, कालीमिर्च व दालचीनी का प्रयोग करते हो तो इससे आपको संक्रामक रोगों से आसानी से मुक्ति मिल जाएगी।

_sesame-seed-oil-for-skin-health

# करें सरसों के तेल का इस्तेमाल

सरसों का तेल कई औषधियों से भरपूर होता है। और यह बहुत फायदेमंद तेल माना जाता है। इस तेल की महक भी आपको कई रोगों से बचाने का काम करती है। इस तेल को सुघंने से आपकी बंद नाक व नाक बहने की समस्या आसानी से दूर होती है। आप इसके लिए आप थोड़ा सा सरसों का तेल एक कटोरी में रखें और इसके बाद आप इसे कम से कम 10 सेंकड तक माइक्रोवेव में रख लें। और फिर इस तेल को निकालें और फिर एक बूंद अपनी नाक में डालें। इससे आपको बंद नाक और नाक बहने की समस्या से राहत मिलेगी।

doodh Mei adrak milakar peene ke fayde

# करें अदरक का इस्तेमाल

अदरक हर तरह से हमारे स्वास्थ्य की देखभाल करता है। अदरक में सबसे महत्वपूर्ण एंटी सेप्टिक तत्व पाए जाते हैं। अगर आप सर्दी व जुकाम व नाक बंद व बहने की परेशानी से परेशान चल रहें हो तो आप अदरक की चाय को पीयं। इससे आपको बहुत लाभ होता है।
आप गर्म पानी में अदरक को दो टुकड़े डालें। और फिर इसमें उपर से दालचीन को डाल दें। और अच्छी तरह से इसे उबलने दें। इसके बाद आप इसका सेवन आराम—आराम से करें। इससे बहती नाक बहना बंद हो जाता है। आप इस उपाय को दिन में दो बार जरूर करें। इससे गले का संक्रमण भी जल्दी ठीक होगा।

और भी पढ़ें —

हरड़ के जबरदस्त फायदे जानकर दंग रह जाओगे

चर्म रोग का सफल घरेलू उपचार

महानारायण तेल के आयुवेर्दिक फायदे

चाय पीने के नुकसान आपको नहीं होगें पता



डिसक्लेमर : AyurvedicSehat.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी AyurvedicSehat.com की नहीं है। AyurvedicSehat.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।

Leave a Reply