pradushan se bachne ke desi nuskhe

प्रदूषण से बचने के देसी नुस्खे

ठंड अब आ चुकी है। एैसे में हमें वातावरण संबंधी कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। खासकर की जहरीली स्मॉग की समस्या। जो हमारी सेहत को सीधे तरह से प्रभावित कर सकता है। प्रदूषण एक समस्या ही नहीं एक परेशानी भी है। आज भारत के कई शहरों में प्रदूषण का स्तर इतना बढ़ गया है की सांस लेना भी दुर्लभ हो गया है। प्रदूषण कई बीमारियों का कारण है। बच्चे हों या बूढ़े लोग प्रदूषण सभी को सांस से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं। एैसे में कैसे करें खुद का बचाव। इस लेख में हम आपको बताएंगे की घरेलू नुस्खों के जरिए आप प्रदूषित हवा से होने वाले नुकसान से बच सके हो।

घरेलू नुस्खे प्रदूषित हवा से बचाने के लिए- homemade prevention for pollution in Hindi

पहला नुस्खा
इसे बनाने के लिए आपको कुछ चीजों की जरूरत होगी जैसे।
कुटा हुआ गुड़
एक गिलास पानी
पांच तुलसी की पत्तियां
अदकर एक चम्मच, क्रश किया हुआ।

कैसे बनाएं इस नुस्खे को
आप सबसे पहले किसी बर्तन में पानी का एक गिलास डाल दें। इसके बाद आप इसमें अदरक का पेस्ट, गुड और तुलसी की पत्तियों को डालकर इसे कम से कम पांच मिनट तक उबाल लें। इसके बाद आप छलनी लें और इसे किसी गिलास में छानकर रख लें। और फिर इसे पीएं। एैसा करने से आपका पाचन तंत्र मजबूत होगा। साथ ही बीमारियों से लड़ने में भी आपको ताकत मिलेगी। ये उपाय आपको वायु प्रदूषण से बचाएगा।

दूसरा सरल घरेलू नुस्खा

जिसके लिए आपको इन मुख्य चीजों को एकत्रित करना होगा।
शहद एक चम्मच
पानी का एक गिलास
6 तुलसी की पत्तियां
नींबू आधा
नमक एक चम्मच आदि।

कैसे बनाया जाए

आप सबसे पहले एक बर्तन में पानी को डालें। और उसे गैस या चूल्हे पर रख दें। इसके बाद इसके उपर आप शहद, नमक, तुलसी की पत्तियां, नींबू का रस मिलाएं। जब यह उबल जाए तब इसे ठंडा कर लें। और फिर इसे पीएं। एैसा करने से आपके पेट की समस्याएं ठीक होंगी। साथ ही दूषित हवा का प्रभाव भी कम पड़ेगा।

अगला उपाय
इस नुस्खे के लिए जरूरी सामग्री।
घी की बूंदे
दूध का एक गिलास
अदरक का टुकडा
काली इलायची एक
हल्दी का आधा चम्मच
चार तुलसी की पत्तियां

इसे बनाने के लिए आप शहद को छोड़कर बाकी की सभी चीजों को एक बर्तन में डालकर मिला लें। और उसके बाद इसे चार से पांच मिनट तक गर्म करें। और बाद में इसमें उपर से शहद को मिला लें। और इसे पीएं। इसे पीने से आपकी सेहत से जुड़ी समस्याएं दूर होंगी।



डिसक्लेमर : AyurvedicSehat.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी AyurvedicSehat.com की नहीं है। AyurvedicSehat.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।

Leave a Reply